जर्मन शेफर्ड डॉग की जानकारी। स्वभाव खासियत पहचान इतिहास

जर्मन शेफर्ड डॉग की जानकारी। स्वभाव खासियत व पहचान

जर्मन शेफर्ड डॉग भारत मै सबसे अधिक पसंद कि जाने वाली तथा पाले जानें वाली नस्लों मै से एक हैं जो की लेब्राडोर के बाद दुसरे सबसे चहिते डॉग के स्थान पर आते हैं और यह दुनियां के बेहतरीन डॉग्स की श्रेणी मैं भी शामिल है।

जर्मन शैफर्ड एक उत्कृष्ट गार्ड व फैमिली डॉग के रूप मै पूरे विश्व मै जानें जाते है जिसका कारण इनकी विशिष्ट प्रकार कि विशेषताएं और खूबियां हैं जो की इन्हें अन्य डॉग की नस्लों से अलग स्थापित करती हैं।

जर्मन शेफर्ड स्वभाव

जर्मन शेफर्ड एक बड़े आकार के डॉग है जिनको अधिकतर लोग एक गार्ड डॉग के रूप मै घर और सम्पत्ति सुरक्षा करने के लिए पालना पसंद करते है लेकिन यह इसके अलावा एक बहुत अच्छे फैमिली डॉग भी होते है।

जर्मन शैफर्ड डॉग बेहद प्यारे,समझदार और बुध्दिमान होते हैं तथा यह पूर्ण रूप से अपने मालिक व परिवार के प्रति समर्पित और वफादार होते है एवम उनके लिए प्रेम और सुरक्षा का भाव रखते हैं

जैसा की हमनें बताया कि जर्मन शेफर्ड एक गार्ड डॉग के रूप मै जाने जाते जिसके कारण इसका स्वभाव थोड़ा उग्र एवम रक्षात्मक होता हैं ख़ासकर अजनबियों और बाहरी लोगो के सामने या फिर यह उस समय थोड़े उग्र हो सकते हैं जब कोई इन्हें आत्याधिक परेशान करें। 

और यादि एक जर्मन शेफर्ड डॉग की अच्छे से ट्रेनिंग और समाजीकरण ना किया जाए यह बेहद गुस्सेल और आक्रामक तथा नियंत्रण के बाहर हो सकते हैं।

यह भी पढ़े

जर्मन शेफर्ड शारीरिक संरचना

जर्मन शेफर्ड डॉग की जानकारी। स्वभाव खासियत व पहचान

जर्मन शेफर्ड डॉग आकार मै बड़े और बेहद फुर्तीले होते है यथा एक व्यस्क नर जर्मन शेफर्ड डॉग का वजन 30 से 40 किलोग्राम और हाईट 60 से 65 सेंटीमीटर एवम मादा का वजन 25 से 35 किलोग्राम और हाईट 55 से 60 सेंटीमीटर तक होता है। एवम जर्मन शेफर्ड का जीवनकाल औसतन 10 से 13 वर्ष का होता है तथा यह 48 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ सकते हैं।

जर्मन शेफर्ड डॉग का सिर मध्यम आकार का होता हैं एवं थूथन चौकोर आकार मै तथा जबड़े बेहद मजबूत होते है नाक का रंग काला और आँखे मध्यम आकार मैं भूरी रंग की होती हैं और जर्मन शेफर्ड के कान लंबे त्रिकोण आकार मै उपर की तरफ़ खड़े हुए होते हैं एवम गर्दन लंबी मोटी और घने बालों वाली होती हैं।

जर्मन शैफर्ड के बाल मुख्यता सिंगल, डबल और लॉन्ग हेयर कॉट मै मौजूद होते है एवम बाल घने लम्बे और चमकदार होते हैं।जो की सामान्यता ब्लैक एंड टेन, रेड एंड ब्लैक तथा संपूर्ण ब्लैक कलर मै देखने को मिलता है तथा जर्मन शेफर्ड की पूंछ लंबी घनी और नीचे की और झुकी होती हैं

जर्मन शेफर्ड का स्वास्थय

वैसे तो जर्मन शैफर्ड एक स्वस्थ्य डॉग है जो बहुत अच्छे धावक और बेहद आक्रामक होते हैं यही कारण है की इन्हें पुलिस और मिलिट्री विभागो मै पुलिस डॉग अथवा मिलिट्री डॉग के रूप मै इस्तेमाल किया जाता हैं।

स्वास्थय समस्या#1

ऑर्थोपेडिक फाउंडेशन फॉर एनिमल्स द्वारा किये गए सर्वेक्षण के अनुसार 19 प्रतिशत जर्मन शेफर्ड डॉग हिप डिस्प्लासिया से प्रभावित होते हैं। जो की इनमें होने वाली सामान्य समस्याओं मैं एक हैं। 

जिसका कारण जर्मन शेफर्ड डॉग को दिया जाने वाला भोजन हो सकता हैं जिसमे पोषक तत्वों की मात्रा कम हो या फिर डॉग खरीदते समय एक अस्वथ्य डॉग का चयन हो सकता हैं। 

स्वास्थय समस्या#2

इसके अलावा जो स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं जो जर्मन शेफर्ड मै देखने को मिलती है वह हैं वॉन विलेब्रांड रोग यह एक रक्त मैं होने वाला रोग हैं जिसे VWD भी कहा जाता है। जिसमें खून मैं थक्के बनने की प्रक्रिया प्रभावित हो जाती हैं यह समस्या अधिकांस जर्मन शेफर्ड डॉग्स को जन्म से ही होती हैं। 

स्वास्थय समस्या#3

कैनाइन हिप डिस्प्लेशिया (CHD)यह कूल्हे के जोड़ तथा उसके आस पास टिश्यू (उत्तकों) को प्रभावित करने वाली समस्या है जिसके कारण जर्मन शेफर्ड डॉग को जोड़ो मै दर्द तथा कमर के आस पास सूजन यथा लगड़ेपन जैसी समस्या पैदा हो सकती है।

यह भी पढ़े

जर्मन शेफर्ड की विशेषताएं –German shepherd ki khasiyat

जर्मन शेफर्ड डॉग की क्या खासियत है? जर्मन शेफर्ड डॉग बेहद बुद्धिमान ताकतवर और फ़ुर्तिले होते है वैसे तो यह एक गार्ड डॉग के रूप मैं पूरे विश्व मैं जाने जाते लेकिन यह इसके साथ ही साथ एक बहुत अच्छे फैमिली डॉग भी होते है तथा यह सबसे मोस्ट इंटेलीजेंट डॉग्स की लिस्ट मैं तीसरे नंबर पर शामिल हैं। 

  • जर्मन शेफर्ड डॉग अपनी वफादारी के लिए भी बहुत मसहूर है और अपने मालिक को किसी भी प्रकार की मुसिबत मैं देखकर बहुत जल्दी रक्षात्मक अपना स्वभाव दिखाने लगते हैं इसके अलावा यह सीखने के मामले मैं बहुत अच्छे स्टूडेंट होते है और नयी चीजों को बहुत आसानी के साथ सीख सकते हैं। जिसके वजह से इन्हे किसी भी प्रकार की ट्रेनिंग देना बहुत सरल हो जाता हैं। 
  • जर्मन शेफर्ड एक गॉर्ड डॉग श्रेणी के डॉग हैं जिनकी सुघने और चीजों को समझने की क्षमता अन्य कुत्तो की तुलना मैं काफी अधिक होती हैं इन्हे एक सामान्य कुत्तो से अलग दर्जा देता हैं।
  • जर्मन शेफर्ड की शारीरिक संरचना दूसरे कुत्तो से काफी अलग होती हैं जिसके कारण यह जाने जाते हैं एवं दुनिया भर मैं बेहद लोकप्रिय भी हैं तथा इनकी यह शारीरिक संरचना इन्हे एक बेहतरीन धावक बनती हैं तथा एक व्यस्क सेहतमंद जर्मन शेफर्ड 48 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से दौड़ सकता हैं।
  • जर्मन शेफर्ड के बाल इसकी शारीरिक संरचना व् इसका आकर इसे एक सुन्दर कुत्ते के रूप मैं प्रस्तुत करता हैं और भीड़ से अलग करता हैं।
  • सुरक्षा के दृष्टिकोण से जर्मन शेफर्ड एक उत्तम डॉग के रूप मैं जाने जाते हैं यह अजनबियों से बिलकुल भी मिलनसार नहीं होते हैं किसी बाहरी या अनजान व्यक्ति को आपके आज्ञा के बिना आपके या आपके सम्पत्ति के  पास जाने नहीं देते हैं।

जर्मन शेफर्ड डॉग इमेज। german shepherd dog ki photo

जर्मन शेफर्ड कुत्ते की पहचान(German shepherd ki pehchan)

जर्मन शेफर्ड डॉग की लोगो मै बहुत अधिक लोकप्रियता होने के कारण इसकी मांग भी डॉग मार्केट मै बहुत ज्यादा अधिक है जिसका उपयोग कुछ ब्रीडर अपने फायदे के लिए करते है तथा गलत तरीके से ब्रीडिंग कर अशुद्ध और मिक्स जर्मन शेफर्ड डॉग बेचते हैं।

ऐसे मैं जो लोग जर्मन शेफर्ड पालना चाहते है उनके मन मै यह दुविधा रहती है कि एक शुद्ध जर्मन शेफर्ड कुत्ते की पहचान कैसे करें? तो इसके लिए कुछ मापदंड (संकेत) होते है जिनकी मदद से आप एक शुद्ध जर्मन शेफर्ड डॉग की पहचान कर सकते हैं।

1.दोस्तों एक प्योर जर्मन शेफर्ड डॉग की पहचान आप उनके कानों से भी कर सकते हैं इनके कान सिर के ऊपरी भाग मैं मौजूद होते हैं तथा दोनों कानों के बीच की दूरी अन्य डॉग्स की अपेक्षा कम होती हैं एवम 2 से 3 महीने बाद इनके कान ऊपर की ओर खड़े हो जाते हैं।

2.जर्मन शेफर्ड डॉग के सुध्दता कि पुष्टी उसके पंजों द्वारा भी की जा सकती एक शुद्ध जर्मन शेफर्ड डॉग के पैरो के पंजे मोटे,चौड़े और फैले हुए होते है।

3.एक ऑरिगनल जर्मन शेफर्ड के पिछले पैर मुड़े हुऐ होते है(जैसा की नीचे फ़ोटो मै दर्शाया गया है) तथा अगले वाले पैर की अपेक्षा छोटे होते है तो और जब यह खड़े होते है शरीर का पिछला हिस्सा थोडा सा झुका हुआ रहता है यदि आप एक जर्मन शेफर्ड डॉग खरीदते है तो उसके पैरों की जॉच जरुर कीजिए।

जर्मन शेफर्ड डॉग की जानकारी। स्वभाव खासियत व पहचान

4.यदि जर्मन शेफर्ड की पूंछ उसके शरीर से ऊपर की और हैं और अगर यह रींग के आकार मै मुड़ी हुई है तो वह उसके अशुद्ध होने के संकेत हैं। एक शुद्ध जर्मन शेफर्ड डॉग के पूंछ का आकार मै हमेसा मोटी घनी और सीधी होती हैं यथा यह नीचे की और होती हैं।

5.एक और तरीका है जिसके माध्यम से आप जर्मन शेफर्ड डॉग की प्यूरिटी की जॉच कर सकते हैं वह है उनके सिर की बनावट एक शुद्ध जर्मन शैफर्ड का सिर चौड़ा और फ़ैला हुआ एवम थूथन लम्बी होती है जिसे सामने से देखने पर उनके दोनों कान त्रिकोण आकार मै खड़े हुऐ तथा पूरा चेहरा दिखता है।

6.दोस्तों जर्मन शेफर्ड डॉग बहुत ज्यादा फुर्तीले तेज़ और चंचल होते हैं जिसका कारण इनका एनर्जी लेवल होता हैं जो की काफी ज्याद होता है जिसके वज़ह से आपको इन्हे कंट्रोल करने में कभी कभी थोड़ी दिक्कत हो सकती हैं।जिसका मतलब यह हैं इनका फुर्तीला होना और इनका शरीर का एनर्जी लेवल भी जर्मन शेफर्ड की शुद्धता का प्रतीक हैं।

जर्मन शेफर्ड का खाना। German shepherd food in hindi

जर्मन शेफर्ड एक मध्यम लार्ज डॉग ब्रीड हैं जिसे एक छोटे आकार के डॉग की अपेक्षा अधिक मात्रा एक पौष्टिक भोजन की आवश्यकता होती हैं तथा एक बढ़ते हुए जर्मन शेफर्ड डॉग के लिए तो यह बेहद जरुरी हैं की उसे प्रायप्त मात्रा मैं सही समय पर भोजन प्राप्त हो।

एक जर्मन शेफर्ड डॉग को ऐसा भोजन दे जिसमे की ओमेगा 3,ओमेगा 6 ,आयरन और कैल्शियम की अत्यधिक मात्रा मौजूद हो यह सभी तत्व हड्डीयों तथा मासपेशियों को सुरक्षा प्रदान करती हैं एवं मजबूत बनाती हैं। तथा ऐसा भोजन भी दे जिसमे पर्याप्त मात्रा मैं फाइबर उपस्थित हो फाइबर भोजन को आसानी से पचाने मैं सहायक होता हैं।

इसके अतिरिक्त घर मैं ही आप जर्मन शेफर्ड डॉग को उबले अंडे,ओट्स बिना शुगर के ,दूध और उबला हुआ मॉस भी दे सकते हैं तथा इसके साथ आप छेना भी दे सकते हैं।

जर्मन शैफर्ड का इतिहास

जर्मन शेफर्ड डॉग की खोज सन् 1899 मै मैक्स एमिल फ़्रेड्रिच् वॉन स्टेफानिट्ज के द्वारा जर्मनी मैं की गई थी वॉन स्टेफानिट्ज एक ऐसे डॉग की खोज मैं थे जो स्वस्थ्य और शरीरिक् रूप से मजबूत और एक वर्किंग डॉग हो जो की दिखने मैं वुल्फ यानी की भेड़िया जैसा हो। 

इसी दौरान वॉन स्टेफानिट्ज को एक डॉग शो मैं हेकटोर लिंक्सशाइन नामक एक डॉग दिखा जो की उनके खोज के अवश्यकता अनुसार ही उस डॉग की शरीरिक् संरचना और खसियते थी इसके बाद वॉन स्टेफानिट्ज ने हेकटोर लिंक्सशाइन डॉग को उसके मालिक से खरीद लिया तथा खरीदने के बाद इसका नाम बदलकर होरंड वॉन ग्राफ्रथ रख दिया। 

इसके बाद वॉन स्टेफानिट्ज ने सोसाइटी फॉर जर्मन शेफर्ड डॉग्स की स्थापना की और होरंड वॉन ग्राफ्रथ को पहला जर्मन शेफर्ड डॉग के रूप मैं पंजीकृत किया गया जो कुछ ही सालों मै दुनिया भर मैं बहुत लोकप्रिय हो गई और यह लोकप्रियत आज तक है। 

FAQ

Q: जर्मन शेफर्ड के बच्चे कितने महीने में होते हैं?

Ans: एक मादा जर्मन शेफर्ड का गर्भ काल नौ सप्ताह का यानि की 63 दिनों का होता हैं एवं इसके बाद वह पिल्लों को जन्म देती हैं

Q: जर्मन शेफर्ड की कितनी नस्ल होती हैं?

Ans: जर्मन शेफर्ड भेड़िये के समान दिखने वाली एक नस्ल हैं जिसे अल्सतियन के नाम से भी जाना जाता हैं तथा अभी इसकी एक ही नस्ल के बारे ज्ञात हैं।

Q: जर्मन शेफर्ड का जन्म कैसे हुआ?

Ans : जर्मन शेफर्ड का जन्म जर्मनी मैं सन 1899 मैं हुआ था जहाँ इसका इस्तेमाल मवेशियों की देखभाल और सुरक्षा के लिए किया जाता था।

Q: जर्मन शेफर्ड डॉग की उम्र कितनी होती है?

ANS : एक स्वस्थ्य जर्मन शेफर्ड डॉग की उम्र 10 – 13 वर्ष तक की होती हैं।

SHARE THIS :

Leave a Comment

Your email address will not be published.