डॉग एलर्जी ट्रीटमेंट खुजली का ईलाज कैसे करें?

डॉग एलर्जी ट्रीटमेंट

डॉग्स में त्वचा विकार यानि स्किन इंफेक्शंस या एलर्जी बहुत समान्य हो गया है। वर्तमान समय की बात करे तो यह ज्यादातर डॉग्स मै यह समस्या देखने को मिलती है स्किन एलर्जी डॉग्स मै होने वाले सामान्य लेकिन ख़तरनाक व जानलेवा रोगों मै से एक हैं। स्किन इंफेक्शंस मै डॉग्स अत्याधिक खुजली का सामना करना पड़ता हैं जो कि असहनीय होता हैं।

स्किन एलर्जी के कारण डॉग के त्वचा को नुक़सान तो पहुंचता ही है इसके साथ साथ बालों को भी काफ़ी हानि होती हैं एवम बाल झड़ने जैसी समस्याएं भी होती हैं।

यदि सही समय पर डॉग स्किन इन्फेक्शन का उपचार न किया जाए तो स्थिति ज्यादा गंभीर हो सकती हैं जिसमें डॉग पागल या फ़िर उसकी मृत्यु भी हो सकती हैं जो की काफी दुःखद होती हैं।

हमारे प्रिय रीडर्स (पाठक) इस आर्टिकल के माध्यम से हैं आपको बताएँगे की डॉग एलर्जी ट्रीटमेंट किस प्रकार से करना चाहिए तथा स्किन मैं इन्फेक्शन या एलर्जी किन किन कारणों से होता एवं आप अपने डॉग को यह होने से कैसे बचा सकते हैं और यदि यह समस्या आपके डॉग को होती हैं तो इस से किस प्रकार निपटा जाए।

यह भी पढ़े – डॉग की सही देखभाल कैसे करें


डॉग स्किन इन्फेक्शन खुजली के कारण

डॉग एलर्जी ट्रीटमेंट

यदि किसी डॉग को स्किन इन्फेक्शन या खुजली का सामना करना पड़ता हैं तो उसका इलाज सही समय पर किया जाना बहुत आवश्यक हो जाता है।

लेकिन ईलाज के साथ आपको यह भी जानना बहुत जरूरी हैं की डॉग को यह इन्फेक्शन किन कारणों से व किस चीज की वजह से हुआ है। ताकि भविष्य मै आप वह गलती दुबारा करने से बचें और अपने डॉग को स्वस्थ रख पाए।

तो आइये जानते हैं

1.डॉग मै स्किन एलर्जी की सबसे अधिक समस्या भोजन के कारण होती डॉग्स को मनुष्यों की अपेक्षा फूड से एलर्जी बहुत जल्दी हो जाती हैं

कई लोग अपने डॉग्स को अलग अलग प्रकार के भोजन खिलाना पसंद करते हैं जिससे की डॉग्स को स्किन एलर्जी होने का खतरा बना रहता हैं। फूड के कारण हुए एलर्जी का पता आप भोजन मै बदलाव करके कर सकते हैं।

2.दूसरा कारण हैं टिक्स् यानि की जू,पिस्सू इनके वजह से भी डॉग्स मैं स्किन एलर्जी होतीं हैं। यह कई प्रकार के होते हैं कुछ इनके शरीर मै बालों के अंदर मौजूद होते हैं

तथा कुछ मक्खियों के समान होते हैं जो इनके शरीर के उपर रहकर इन्हे काटते हैं एवंं इनके काटने पर स्किन मै भूरे रंग दाग़ हो जाते है और डॉग्स को अत्याधिक खुजली का सामना करना पड़ता हैं।

यदि आप अपने डॉग को एक साफ़ सुथरे व स्वछ स्थान पर नही रखते है तो उन्हे स्किन इनफेक्शन होने का खतरा अधिक रहता हैं। गंदगी होने के कारण उस स्थान पर वायरस,बैक्ट्रिया,जू, पिस्सू इत्यादि उत्पन्न हो सकते हैं

एवम् डॉग की त्वचा को नुक़सान पहुंचा सकते हैं। इसलिए यह आवश्यक ही की आप जिस स्थान पर अपने डॉग को रखते है वह पूर्ण रूप से साफ हो।

3.अपने डॉग को जब भी घर के बाहर लेकर जाए तो उन्हे अन्य बाहरी डॉग्स के संपर्क से दूर रखें तथा गंदगी वाले स्थान मै जाने से बचाइए इन सभी चीजों से भी इन्हें स्किन एलर्जी हो सकतीं हैं।

4.बदलते मौसम का भी डॉग्स के स्किन पर विपरित प्रभाव पड़ सकता है। स्किन रूखापन होने के कारण या त्वचा सेंसिटिव होने के कारण स्किन मै एलर्जी व खुजली होना सामान्य हैं।


कुत्तों मै स्किन एलर्जी खुजली के प्रकार

डॉग एलर्जी ट्रीटमेंट

जिस प्रकार कुत्तों मै स्किन एलर्जी के कारण अलग अलग होते हैं उसी प्रकार स्किन एलर्जी भी भिन्न प्रकार के होते हैं। हर एक के अलग लक्षण व घातक परिणाम होते हैं आइए इनके बारे में जानते हैं।

1.एलर्जी डरमेटाइटिस

एलर्जी डरमेटाइटिस जैसा कि नाम से ही मालूम होता है यह स्किन समस्या एलर्जी के कारण से होता है डॉग्स को एलर्जी डरमेटाइटिस की तकलीफ़ कुत्तों को मौसम परिवर्तन, भोजन व बॉडी ग्रूमिंग पोडक्ट्स के विपरित प्रभाव से होते हैं।

इसमें डॉग की स्किन मै लाल रंग के दानेदार चित्ते पड़ जाते हैं और यह मुख्यतया शरीर के कान, पैर, चेहरे, पैरो के बगल में एवम् सामने के पैरो को प्रभावित करते है।

2.इम्पेटिगो

इम्पेटिगो बैक्टीरिया संक्रमण है जो स्टैफिलोकोकस बैक्टीरिया के कारण होता है। यह बैक्टिरियल संक्रमण प्रभावी रूप से कमजोर प्रतिरक्षा तंत्र, भोजन एलर्जी या कीड़ों व पिस्सुओं के काटने से होता है।

इम्पेटिगो बैक्टीरिया संक्रमण मै डॉग्स छोटे छोटे मवाद से भरे लाल रंग के छालो से ग्रसित हो जाते हैं यह मुख्यता पेट, गर्दन व मुंह के आस पास के भाग को प्रभावित करते हैं। जिसमें डॉग्स के बाल झड़ना, अत्याधिक खुजली करना व संक्रमित स्थान को दांतो से काटना जैसी गंभीर समस्याएं होती है।

3.यीस्ट इन्फेक्शन

यीस्ट इन्फेक्शन यह आम तौर पर कुत्तों के कानों मैं होता हैं। यह संक्रमण होने के मुख्य कारण कानों मौजूद गंदगी, पानी की नमी तथा शारिरीक सफ़ाई के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले उत्पादों के रिएक्शन के कारण होता है।

यीस्ट इन्फेक्शन में डॉग्स के कानो में अत्याधिक खुजली होती है कानों के त्वचा का रंग लाल व घाव उत्पन्न हो जाते है एवम् त्वचा मोटी तथा रूखी है जाती है। यदी सही समय पर जरूरी उपचार ना किया जाय तो संक्रमण कानों के अंदर भी फैल सकता है जिसके परिणाम स्वरूप बहरेपन जैसी गंभीर समस्या हो सकतीं हैं।

4.फोलिकुलिटिस

फोलिकुलिटिस एक प्रकार का बैक्ट्रियल संक्रमण हैं जो कि मुख्य रूप से इम्पेटिगो इन्फेक्शन की तरह ही स्टैफिलोकोकस बैक्टीरिया के कारण से व फंगल इंफेक्शंस या परजीवियों के काटने से होता है लेकिन इसके लक्षण इम्पेटिगो स्किन संक्रमण से अलग होते हैं।

फोलिकुलिटिस मै संक्रमित त्वचा मैं लाल रंग के साथ सूजन,अधिक खुजली,बालो का झड़ना एवम समस्या बढ़ने त्वाचा का रंग काला तथा प्रभावित स्थान पर दर्द भी हों सकता है।


डॉग को खुजली(एलर्जी)से कैसे बचाए

dog khujli treatment in hindi

कैसा होगा अगर आप डॉग्स मै होने वाले संक्रमणों एवंम भविष्य मैं उस से होने वाले के घातक व जानलेवा परिणामों से बचा सके। ऐसा हो सकता है यदि आप अपने डॉग को सुरक्षित रखने हेतु कुछ सवधानियाँ व जरूरी कदम उठाने होंगे।

1.डॉग में होने वाले स्किन इन्फेक्शन का ज्यादतर कारण उनके शरीर व रहने वाले स्थान पर मौजूद गंदगी होती हैं तो आपको यह सुनिश्चित करना जरूरी है कि आप अपने डॉग की शारिरीक सफ़ाई।

जैसे बालों की कंगी कान, नाख़ून, पैर इन सभी महत्वपूर्ण अंगों की सफाई का विशेष ध्यान रखें इसके अलावा उनके सोने के स्थान को, बिस्तर, खिलौने, गले के पट्टे, खाने के बर्तन को नियमित साफ़ करें।

2. मौसम परिवर्तन के दौरान डॉग्स की स्किन रूखी हो जाती है जिससे इन्हें एलर्जी का ख़तरा हो सकता हैं।मौसमी एलर्जी से बचाव के लिए आप इन्हें उस दौरान जितना हो सकें घर के अंदर रखे। डॉग्स में मौसमी एलर्जी होने का ख़तरा सबसे अधिक वसंत ऋतु मै होता है।

3.डॉग्स की स्किन मै खुजली का एक मुख्य कारण जू, पिस्सू जैसे परजीवी होते हैं जिनके कारण ही स्किन इन्फेक्शन, खुजली जैसी गंभीर समस्या होती है। जिस से बचाव के लिए आप परजीवी अवरोधक प्रोडक्ट्स जैसे स्प्रे, पावडर, संपू इत्यादि का समय समय पर प्रयोग करते रहें।

4. अगर आपका डॉग स्किन एलर्जी से प्रभावित हैं तो उसे समान्य भोजन की जगह ख़ास तौर से एलर्जी मै दिए जाने वाले हाइपो एलर्जीक डॉग फूड दे।

5. खुजली से प्रभावित डॉग को बचाने व राहत पहुंचने के लिए आप बाजार मैं उपलब्ध कुछ पाउडर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

 

यह भी पढ़े – बेस्ट डॉग फुड फॉर डॉग्स


कुत्ते की खुजली मिटाने के उपाय।dog khujli treatment in hindi

कुत्तों मै खुजली का उपचार उनमें हुए इन्फेक्शन कि पहचान करने के बाद उसके अनुसार अलग अलग प्रकार से होते है। जिसमें कुछ स्थितियो मैं उपचार आप घरेलू नुस्खों की सहायता से घर पर कर सकते है लेकिन मामला गंभीर होने पर पशु चिकित्सक से ही इलाज़ करवाना उचित होता हैं।

खुजली

कुत्तों को स्किन एलर्जी के कारण असहनीय खुजली का सामना करना पड़ता है। जिससे बचाव के लिए आप सामान्य स्थिति होने पर एंटी इचिंग स्प्रे या पाउडर का इस्तेमाल कर सकते है।

परजीवी

dog khujli treatment in hindi

डॉग्स में होन खुजली, इन्फेक्शन, स्किन एलर्जी, का कारण कुत्तों के शरीर मैं पाए जाने वाले परजीवी फ्लिस (मक्खी) माइट्स (जू, पिस्सू) होते हैं जिस से बचाव के लिए जरूरी आप कुत्तों की शारिरीक सफ़ाई का ध्यान रखें तथा उनके बिस्तर की भी नियमित सफाई करें क्योंकि माइट्स (पिस्सू,जू) अपना घर एक गंदे बिस्तर मै उत्पन्न होते हैं।

एवम उड़ने वाले फ्लीस गीले सड़े कचरे व बासी भोजन के कारण आपके घर व कुत्तों के शरीर में प्रवेश करते हैं हैं तथा उनके शरीर को हानि पहुंचाते हैं इसलिए अपने घर व आस पास गीला कचरा ना रखें तथा घर के डसबिन को नियमित साफ़ करें।


डॉग एलर्जी ट्रीटमेंट के घरेलू उपाय

गंभीर से त्वचा संक्रमण से प्रभावित कुछ डॉग्स को जरूरी है कि आप पशू चिकित्सक से उनका उपचार करवाएं। तथा समान्य परिस्थिति मै आप इनका उपचार घरेलू नुस्खों की मदद से कर सकते जिनमें से कुछ का विवरण हमनें किया है।

नारियल तेल

नारियल का तेल एक नेचुरल मोइसराइजर का एक रुप होता हैं जो त्वचा की नमी बनाऐ रखने मै सहायता करता है। इसके अलावा यह एकजिमा, फंगल इंफेक्शंस, स्किन ड्राइनेस जैसी प्रभावी संक्रमणों मै भी उपयोगी होता हैं।

स्किन इन्फेक्शन के दौरान आप नारियल का तेल अपने डॉग के स्किन पर लगा सकते हैं जो इनके त्वचा के रूखेपन को कम करता है तथा खुजली मै राहत पहुंचाता है।

इस्तेमाल के लिऐ ऑर्गेनिक या फ़िर वर्जिन नारियल तेल का चयन करें तो ज्यादा बेहतर होगा। इसके अतरिक्त नारियल तेल के अधिक फ़ायदे प्राप्त करने हेतु आप इसका उपयोग कुत्तों के भोजन मै भी कर सकते हैं।

सेब सिरका- Apple vinegar

सेब का सिरका अपने प्राकृतिक गुणों के कारण मनुष्यो के लिए तो बहुत लाभकारी होता ही है इसके साथ ही साथ इसमें एंटी फंगल व जीवाणु रोधी विशेषताएं मौजूद होती है। इसका उपयोग आप बराबर मात्रा मै पानी तथा एप्पल सिरका मिलाकर डॉग के संक्रमित हिस्सो मै रोजाना लगाइए।

एप्पल सिरके का उपयोग घुले घावों पर बिल्कुल ना करें यह डॉग्स के लिए बेहद दर्द दायक है सकता हैं।

एलोवेरा-Aloevera

एलोवेरा विटामिन्स ए, सी, ई का एक प्राकृतिक भंडार होता है जिसके इस्तेमाल से डॉग की त्वचा को सेहतमंद व निरोगी बनाए रखने मै आपको सहायता मिलती है एवम इसमें उपस्थित विटामिन बी 12 फोलिक एसिड बालों के लिए फायदमंद होता हैं।

ताज़ा एलोवेरा का जेल डॉग के संक्रमित जगहों पर प्रतिदिन लगाए यह एलर्जी से ग्रसित त्वचा को ठंडक व शीतलता प्रदान करता है।

ध्यान रहें की ताज़ा व पेड़ से तोड़ा गया एलोवेरा का उपयोग करें बाज़ार में उपलब्ध एलोवेरा जेल मै कृत्रिम रंग व एल्कोहल का इस्तेमाल किया जाता है जो डॉग की स्किन  को नुक़सान पहुंचा सकता हैं।

डॉग्स मैं खुजली यानि की स्किन इन्फेक्शन का इलाज़ एक पशु चिकित्सक की देख रेख मै किया जाए तो ज्यादा बेहतर व सुरक्षित होता हैं।

SHARE THIS :

Leave a Comment

Your email address will not be published.