साइबेरियन हस्की डॉग की जानकारी। husky dog information in hindi

husky dog information in hindi

हस्की डॉग जिसे साइबेरियन हस्की के नाम से जाना जाता है यह एक मध्यम आकार वाली नस्ल है यह एक फैमिली डॉग ब्रीड है तथा अपने सुंदर और आकर्षक रंग रूप के कारण लोगो द्वारा काफी पसंद किए जाते है यह एक परिवार के लिए समृद्ध डॉग माने जाते है।

साइबेरियन हस्की एक महंगी डॉग ब्रीड है तथा इसकी कीमत भी अन्य नस्लों की तुलना मैं अधिक होती है एवम इसके रख रखाव और देखभाल का खर्च बाकी डॉग्स की तुलना मैं भी थोड़ा अधिक होता हैं।

इस लेख मैं हम साइबेरियन हस्की से जुड़ी जानकारी और तथ्यों के बारे मैं जानेंगे तथा इसका क्या इतिहास है शारीरिक संरचना,देखभाल, स्वभाव,भोजन के बारे मैं विस्तार से जानेंगे।


साइबेरियन हस्की डॉग इतिहास। husky dog history in india

साइबेरियन हस्की डॉग मूल रूप से एशिया के उत्तर पूर्वी देश साइबेरिया की नस्ल है जो की इसके नाम से ही प्रदर्शित होता है। तथा सन 1908 मैं इस नस्ल को साइबेरिया से निर्यात कर  सयुक्त राज्य अमेरिका के अलास्का पहुंचाया गया।

अलास्का एक बर्फीली खाड़ी वाला क्षेत्र है जहां साइबेरियन हस्की का उपयोग माल ढुलाई और माल वाहक गाड़ी को खींचने के लिए किया जाता था इसके अलावा साइबेरियन हस्की 1909 ओर 1920 के मध्य मैं होने वाली स्वीपस्टेक्स दौड़ प्रतियोगिता मैं का भी हिस्सा रहे।

3 फरवरी सन 1925 मैं महामारी के उपचार के लिए जरूरी डिप्थीरिया सीरम को गुन्नार कासेन नेनाना के नेतृत्व मैं साइबेरियन हस्की डॉग्स द्वारा 600 मील का सफर कर अलास्का पहुंचाया गया डॉग की अगवाई करने वाले साइबेरियन हस्की डॉग का नाम टोगो था। 

husky dog information in hindi

इस घटना को फिल्म के माध्यम से भी 2019 मैं प्रदर्शित किया गया जिस फिल्म का नाम टोगो हैं।

तथा इसके कुछ वर्षो बाद 1930 मैं साइबेरिया से हस्की का निर्यात पर रोक लगा दी गई एवम उसी वर्ष अमेरिका के अमेरिकन केनाल क्लब(akc ) द्वारा साइबेरियन हस्की को मान्यता प्राप्त हुई तथा इसके नौ वर्ष के बाद प्रथम हस्की डॉग को कनाडा मैं पंजीकृत किया गया।

सन 1983 अमेरिका के यूनाइटेड केनाल क्लब मैं हस्की डॉग को आर्कटिक हस्की के रूप मै परिचित किया तथा जिसके कुछ वर्षो बाद इसका नाम बदलकर साइबेरियन हस्की रख दिया गया।


हस्की डॉग स्वाभाव

  • साइबेरियन हस्की एक अच्छे फैमिली डॉग है यह स्वाभाव से चंचल और शरारती होते है जिन्हे एक उचित शिक्षा और प्रशिक्षण देने की अवश्यकता होती है।
  • हालाकि की यह सीखने के प्रति इतने उत्साही नही होते है तथा आपको इसे प्रशिक्षित करने के लिए अधिक मेहनत करने जरूरत होती हैं।
  • साइबेरियन हस्की एक जिज्ञासु और उत्सुक प्रवृत्ति की नस्ल है को की अजनबियों और अनजान लोगो से मिलना खेलना और उनका स्नेह प्राप्त के इच्छुक होते है।
  • एवम खुले होने पर यह बिना आपके अनुमति के बाहर भ्रमण पर निकल सकते है एवम लोगो को और आपके पड़ोसियों को परेशान कर सकते हैं।
  • इनका दोस्ताना और मिलनसार स्वाभाव एक तरह से अच्छा भी है और नही भी यह चोरों और घुसपेटियो के साथ भी मिलनसार हो सकते है। इससे निपटने हेतु आपको इसे जरूरी ट्रेनिंग देने की आवश्यकता पड़ेगी।
  • ध्यान रहे की साइबेरियन हस्की डॉग एक गार्ड या रक्षक डॉग नही है यह एक फैमिली डॉग है तथा यह भौंकने के मामले मैं बहुत पीछे है एवम किन्ही स्थितियों मैं बिल्कुल भी नही भौंकते है।
  • यह आपके लिए अच्छा भी हो सकता है ओर बुरा भी  कभी कभी इसका नहीं भौकना आपको निराश कर सकता है। जिसमे सुधार हेतु आपको इसे ट्रेनिंग देने की आवश्यकता होगी।
  • क्योंकि यह एक फैमिली डॉग है तो यह अकेले रहने के लिए तैयार नहीं होते हैं अकेले होने पर यह घर की चीजों को नुकसान पहुंचा सकते है उन्हे तोड़ मचा सकते है या फिर वस्तुओं को  काट सकते हैं।
  • इनकी चंचलता एक और हिस्सा है की यह खोदने के प्रति अति उत्साहित होते हैं तो यदि आपके पास गार्डन या बगीचा है तो आपको इस पर ध्यान देने की जरूरत पड़ेगी। क्योंकि यह आपको बगीचे को अलग अलग स्थान पर गड्ढा खोद कर बिगाड़ सकता हैं।

हस्की डॉग की देखभाल।

एक अच्छे डॉग ओनर होने के लिए आपको अपने हस्की डॉग की देखभाल अच्छे से करने की आवश्यकता होती है। साइबेरियन हस्की एक अति सक्रिय नस्ल है जिसे स्वस्थ्य और ऊर्जावान बनाए रखने के लिए आपको इसे नियमित रुप से घुमाने और व्यायाम कराने की जरूरत होती है।

1.घूमना हस्की के लिए उसके प्रिय खेलो मैं से एक है तथा इन्हे अपने मालिक व् परिवार के साथ खेलना बहुत अधिक प्रिय होता है इन्ही खेलो के माध्यमों से यह खुश और सक्रिय बने रहते हैं।

2.हालाकि आपको इसे घुमाने और व्यायाम कराने के साथ साथ यह भी ध्यान रखना है की इनका शरीर ठंडे स्थल मैं रहने के अनुकूल होता है एवम यह अधिक गर्मी सहन नही कर सकते है।

3.तथा व्यायाम और अन्य कोई शारीरिक गतिविधि करते समय इस बात का ध्यान जरूर रखें। तापमान इनके अनुकूल और सहन करने के योग्य हो।

4.हस्की एक चंचल होते है जो को मस्ती और धमाल करने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं इसके अलावा यह कभी कभी जिद्दी भी सकते तथा इसे नियंत्रित करने के लिए आपको इसे शुरुवाती दिनो से जरूरी शिक्षा और ट्रेनिंग देने की आवश्यकता होती है।


साइबेरियन हस्की स्वास्थ्य।

husky dog information in hindi

वैसे तो हस्की एक स्वस्थ्य नस्ल है लेकिन बाकी अन्य नस्लों की तरह ही इसमें भी कुछ अनुवांशिक स्वास्थ्य समस्याएं होती है जो की इसे विरासत मैं अपने माता पिता और पूर्वजों से प्राप्त हुई है तथा एक साइबेरियन हस्की को अपनाने से पहले इन रोगों के बारे में जानना जरूरी हैं।

1. मोतियाबिंद

मोतियाबिंद हस्की डॉग को होनी वाली सबसे आम समस्यायों मैं से एक है मोतियाबिंद की समस्या से अधिकतर बुजुर्ग हस्की डॉग्स प्रभावित होते हैं।

मोतियाबिंद के कारण यह स्पष्ट रूप से नहीं देख पाते है एवम इनकी आंखो मैं धुंधलापन आ जाता हैं। मोतियाबिंद उपचार सर्जरी द्वारा संभव है।

2.प्रोग्रेसिव रेटिनल एट्रोफी

प्रोग्रेसिव रेटिनल एट्रोफी एक प्रकार का नेत्र संबंधी विकार है इस रोग मैं आंखो के पीछे मौजूद फोटोरिसेप्टर को नुकसान होता है जिसके कारण हस्की डॉग मैं अंधापन भी आ सकता है अंधेपन के लक्षण दिखने से पहले जरूरी उपचार करवाना आवश्यक हैं।

3.कॉर्नियल डिस्ट्रोफी

यह एक और आंखो मैं होने वाली समस्या है कॉर्नियल डिस्ट्रोफी रोग नेत्र के कार्निया या फिर आई बॉल के बाहरी पारदर्शी हिस्से को प्रभावित करती है यह आमतौर पर फीमेल हस्की डॉग और वयस्कों मैं अधिक देखने को मिलता हैं। 

चिकित्सकों के मुताबिक इसमें अंधापन तो नही होता है लेकिन दृष्टि काफी हद तक प्रभावित हो सकती हैं।

बताई गए सभी रोग आंखो से संबंधित  है तथा हिप डिस्पेल्सिया की समस्या जो की ज्यादातर नस्लों मैं देखने को मिलती है वह साइबेरियन हस्की मैं देखन को नहीं मिलता है।


साइबेरियन हस्की भोजन।

साइबेरियन हस्की एक तंदरुस्त और मध्यम आकार की नस्ल है लेकिन इसके आकार के अनुसार इन्हे कम भोजन की आवश्यकता होती है यह इसकी विशेषताओ का ही एक हिस्सा है ऐसा इसलिए है।

क्योंकि यह एक वर्किंग डॉग है जिसका इस्तेमाल बर्फीले और लम्बे रास्तों पर छोटे माल वाहन को खींचने के लिए किया जाता था जिसकी वजह इन्हे उच्च पोषण वाला भोजन कम मात्रा मैं दिए जाते थे यही कारण है की यह कम भोजन ग्रहण करते हैं।

लेकिन इस यह मतलब नहीं है की आप अपने हस्की डॉग को भी कम मात्रा भोजन परोसे।

हालाकि की यह आज के आधुनिक साइबेरियन हस्की पर यह बात पूर्ण रूप से लागू नहीं होती है तथा हस्की के भोजन की मात्रा इसके आकार, उम्र,शारीरिक गतिविधियों और पाचन के अनुसार अलग हो सकती हैं।

हस्की एक सक्रिय और ऊर्जावान नस्ल है जिसकी सक्रियता और ऊर्जा को निरंतर बनाए रखने के लिए आपको इसे एक उच्च गुणवत्ता वाले भोजन देने की आवश्यकता होती है जो की इसके शारीरिक विकास को सुनिश्चित करें ओर जरूरी पोषक तत्वों की पूर्ति करें।

यह भी पढ़े: अपने प्यारे डॉग की देखभाल कैसे करे?


साइबेरियन हस्की शारिरीक संरचना।

एक व्यस्क साइबेरियन नर हस्की का वजन 20– 27 किलोग्राम एवम मादा का वजन 15– 24 किलोग्राम तक होता है एवम हाईट नर की 21–24 इंच और मादा की 20–22 इंच तक होती है।

हस्की के बाल बहुत आकर्षक होते है जो की मोटा घना ओर डबल कोट मैं होते हैं यह इन्हें अधिक ठंड से सुरक्षित रखते है अंदरूनी हिस्से के बाल घने और पतले होते हैं एवम बाहरी हिस्से के बाल मोटे और लम्बे होते हैं। हस्की के यह बाल – 50 से –60 डिग्री सेल्सियस ठंडे मौसम मैं भी इसे गर्म रखती हैं।

साइबेरिया हस्की मुख्य रूप से काले और सफेद रंग मैं देखने को मिलते है लेकिन इसके अलावा यह कुछ अन्य मिश्रित रंगो मैं भी देखने को मिलते है, ग्रे और सफेद , कॉपर रेड और सफेद , पूरे सफेद।

हस्की डॉग की आंखे बहुत लुभाने वाली होती क्योंकि इनके आंखो का आकार बादाम के सामान होता है एवम आंखो का रंग भूरा, काला ओर नीला हो सकता हैं।

हस्की की काफी भारी और घनी होती है जो की इसे ठंड से बचाती है सोते समय यह अपनी पूछ से अपने नाक और चेहरे को ढक लेते ओर ठंड से बचा लेते है हस्की की पूछ को इसकी जुल्फे भी कहते है।

SHARE THIS :

Leave a Comment

Your email address will not be published.